- राजनीती
- व्यापार
- महिला जगत
- बाल जगत
- छत्तीसगढ़ी फिल्म
- लोक कल
- हेल्पलाइन
- स्वास्थ
- सौंदर्य
- व्यंजन
- ज्योतिष
- यात्रा

ब्रेकिंग न्यूज़ :

राजनीति का समाजशास्त्रीय अध्ययन---प्रभाकर चौबे------मुफ्त सार्वजनिक परिवहन का यह एस्तोनियाई मॉडल बाकी दुनिया के लिए कितना व्यावहारिक है?------------कितना मुमकिन हैं कश्मीर में पंचायत चुनाव---------कुलदीप नैयर का निधन-------चे गेवारा : एक डॉक्टर जिसके सपने जाने कितनों के अपने बन गए--------निराश करता है 'भावेश जोशी--------तर्कशील, वैज्ञानिक, समाजवादी विवेकानंद-- डा दत्तप्रसाद दाभोलकर-------डॉनल्ड ट्रंप पर महाभियोग का कितना खतरा----- | राजनीति में शांत रस काल चल रहा -प्रभाकर चौबे सबके हबीब - जीवेश प्रभाकर'महागठबंधन' लोगों की भावना है न कि राजनीति, बीजेपी के खिलाफ पूरा देश एकजुट:राहुल गांधीफीफा वर्ल्ड कप , जानिए कुछ रोचक तथ्यचे गेवारा : एक डॉक्टर जिसके सपने जाने कितनों के अपने बन गए..निराश करता है 'भावेश जोशी.फीफा वर्ल्ड कप , जानिए कुछ रोचक तथ्य. | | नक्सली हिंसा छोड़े तो वार्ता को तैयार : मनमोहन | केन्द्रीय निगरानी समिति के अध्यक्ष ने राजधानी में किया दो राशन दुकानों का आकस्मिक निरीक्षण | मुख्यमंत्री से न्यायमूर्ति श्री वाधवा की सौजन्य मुलाकात | राशन वितरण व्यवस्था का जायजा लेंगे न्यायमूर्ति श्री डी.पी.वाधवा | सरकार कश्मीर के बारे में पूरी तरह बेखबर : करात | मुख्यमंत्री ने दी 'ओणम्' की बधाई | भारत ने इंटरसेप्टर मिसाइल की कामयाब लॉन्चिंग की |

होम
प्रमुख खबरे
छत्तीसगढ़
संपादकीय
लेख  
विमर्श  
कहानी  
कविता  
रंगमंच  
मनोरंजन  
खेल  
युवा
समाज
विज्ञान
कृषि 
पर्यावरण
शिक्षा
टेकनोलाजी 
हड़ताल से तीन सौ करोड़ का व्यापार प्रभावित
Share |

देश के नौ बड़े मजदूर संगठनों की एक दिवसीय हड़ताल के कारण मंगलवार को देश भर में व्यापारिक गतिविधियां बुरी तरह प्रभावित हुईं। बढ़ती महंगाई, श्रम कानूनों के उल्लंघन और निजीकरण के खिलाफ की गई हड़ताल के कारण देश में करीब ढाई सौ करोड़ रुपए का नुकसान हुआ। सबसे ज्यादा नुकसान विमानन कंपनियों को हुआ है। पश्चिम बंगाल में हवाई और सड़क यातायात बुरी तरह प्रभावित होने से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया। हड़ताल का आह्वान करने वाले मजदूर संगठनों में वामदलों और कांग्रेस से जुड़े संगठन भी शामिल हैं। बाजार विशेषज्ञों के कारण इस हड़ताल के कारण करीब 250 करोड़ रुपए का कारोबार प्रभावित हुआ है। कोलकाता आने जाने वाली निजी कंपनियों की 100 उड़ानें पहले ही रद्द कर दी गईं थीं। उधर उत्तरी उत्तरी परगना जिले में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के कार्यकर्ताओं के तृणमूल समर्थकों को दुकानें खोलने से रोकने के कारण हुए संघर्ष में दो लोग घायल हुए। जिले के पुलिस अधीक्षक राहुल श्रीवास्तव ने कहा कि रैपिड एक्शन फोर्स को तैनात कर स्थिति को नियंत्रण में लाया गया है। कुछ अन्य इलाकों में भी माकपा और तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं में झड़पों की खबरें हैं। बैंक, अन्य कार्यालय और वाणिज्यिक प्रतिष्ठान बंद हैं। हड़ताल से बाहर रखने के कारण रेल और मेट्रो रेल सेवाएं सामान्य रहीं। हड़ताल में आटो रिक्शा और टैक्सी चालकों के भी शामिल होने के कारण मुंबई के यात्रियों को मंगलवार सुबह परेशानी का सामना करना पड़ा। पूर्वी और पश्चिमी उपनगरीय इलाकों में अधिकांश आटो रिक्शा बंद रहे जबकि दक्षिणी मुंबई में कुछ निजी टैक्सियों को चलने देखा गया। हड़ताल में बैंक कर्मचारियों की यूनियनों के भी शामिल होने से मुंबई में बैंकों की शाखाओं और मुख्यालयों में काम प्रभावित हुआ है। देश भर में सरकारी कार्यालयों में उपस्थिति बहुत कम है और निजी बसें, टैक्सियां तथा आटो रिक्शा बंद हैं। अभी तक किसी भी अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली है।


Send Your Comment
Your Article:
Your Name:
Your Email:
Your Comment:
Send Comment:

Top Stories

कुलदीप नैयर का निधन
राजनीति में शांत रस काल चल रहा -प्रभाकर चौबे सबके हबीब - जीवेश प्रभाकर'महागठबंधन' लोगों की भावना है न कि राजनीति, बीजेपी के खिलाफ पूरा देश एकजुट:राहुल गांधीफीफा वर्ल्ड कप , जानिए कुछ रोचक तथ्यचे गेवारा : एक डॉक्टर जिसके सपने जाने कितनों के अपने बन गए..निराश करता है 'भावेश जोशी.फीफा वर्ल्ड कप , जानिए कुछ रोचक तथ्य.
ट्रंप, किम की मुलाकात द्विपक्षीय संबंधों के नए युग की शुरुआत