- राजनीती
- व्यापार
- महिला जगत
- बाल जगत
- छत्तीसगढ़ी फिल्म
- लोक कल
- हेल्पलाइन
- स्वास्थ
- सौंदर्य
- व्यंजन
- ज्योतिष
- यात्रा

ब्रेकिंग न्यूज़ :

राजनीति में शांत रस काल चल रहा -प्रभाकर चौबे सबके हबीब - जीवेश प्रभाकर'महागठबंधन' लोगों की भावना है न कि राजनीति, बीजेपी के खिलाफ पूरा देश एकजुट:राहुल गांधीफीफा वर्ल्ड कप , जानिए कुछ रोचक तथ्यचे गेवारा : एक डॉक्टर जिसके सपने जाने कितनों के अपने बन गए..निराश करता है 'भावेश जोशी.फीफा वर्ल्ड कप , जानिए कुछ रोचक तथ्य. | | नक्सली हिंसा छोड़े तो वार्ता को तैयार : मनमोहन | केन्द्रीय निगरानी समिति के अध्यक्ष ने राजधानी में किया दो राशन दुकानों का आकस्मिक निरीक्षण | मुख्यमंत्री से न्यायमूर्ति श्री वाधवा की सौजन्य मुलाकात | राशन वितरण व्यवस्था का जायजा लेंगे न्यायमूर्ति श्री डी.पी.वाधवा | सरकार कश्मीर के बारे में पूरी तरह बेखबर : करात | मुख्यमंत्री ने दी 'ओणम्' की बधाई | भारत ने इंटरसेप्टर मिसाइल की कामयाब लॉन्चिंग की | अमित शाह पहुँचे सीबीआई ऑफिस |

होम
प्रमुख खबरे
छत्तीसगढ़
संपादकीय
लेख  
विमर्श  
कहानी  
कविता  
रंगमंच  
मनोरंजन  
खेल  
युवा
समाज
विज्ञान
कृषि 
पर्यावरण
शिक्षा
टेकनोलाजी 
भारत में लोगों की जान लेती सोशल मीडिया की अफवाहें
Share |

दक्षिण भारत में सोशल मीडिया पर लगातार बच्चों को अगवा करने वाले एक गैंग को लेकर अफवाहें चल रही हैं. हैदराबाद में लोगों ने एक ट्रांसजेंडर महिला को इसी गैंग का सदस्य समझ कर मार दिया. इस घटना में तीन लोग घायल भी हुए हैं. लेकिन पुलिस का कहना है कि इस तरह कि कोई गैंग है ही नहीं. इस तरह के तथाकथित गैंग की अफवाहों के कारण होने वाली यह छठी हत्या है. हैदराबाद के पुलिस कमिश्नर अंजिनी कुमार ने समाचार एजेंसी एएफपी को बताया, "हैदराबाद में कोई किडनैपिंग गैंग नहीं है. हम लोगों को चेतावनी देते हैं कि वे सोशल मीडिया पर चलने वाली अफवाहों के आधार पर किसी को नुकसान न पहुंचाएं." जब उड़ी सेलिब्रिटीज की मौत की अफवाह इससे पहले हैदराबाद से लगभग 160 किलोमीटर दूर निजामाबाद जिले में 42 साल के एक व्यक्ति को भीड़ ने पीट पीट कर मार दिया. इस व्यक्ति पर भी भीड़ ने बच्चों को अगवा करने का आरोप लगाया. इसके अलावा आंध्र प्रदेश में 20 मई को सैकड़ों लोगों की भीड़ ने एक मजदूर को पीट पीट कर मार दिया जबकि उसके सात अन्य साथियों को घायल कर दिया. उन पर भी बच्चों की तस्करी करने के आरोप मढ़े गए. आंध्र प्रदेश में ही एक भिखारी को इसी तरह मार दिया गया. पुलिस ने ट्रांसजेंडर महिला के साथ मारपीट करने के आरोप में 35 लोगों का गिरफ्तार किया. हैदराबाद में पुलिस स्थानीय लोगों के साथ मिल कर लाउडस्पीकर के जरिए सड़कों पर जनता से कानून को अपने हाथ में न लेने की अपील कर रही है. पुलिसवाले जोर जोर से चिल्लाकर कह रहे हैं, "अफवाहों पर विश्वास मत करो." तेलंगाना के साथ साथ उसके पड़ोसी राज्यों आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में भी ऐसी अफवाहें फैलाई जा रही हैं और लोगों को निशाना बनाया जा रहा है. इन सभी राज्यों में अधिकारियों को लोगों को ऐसा ना करने की कड़ी चेतावनी दी है. पुलिस का कहना है कि मारे गए ज्यादातर लोग उस इलाके से नहीं थे जहां उन्हें मारा गया. पुलिस को अभी इस बारे में जांच करनी है कि क्या व्हाट्सएप पर चल रहे वीडियो से जुड़े अपहरण के कोई मामले हैं या नहीं. इस तरह के वीडियो सर्कुलेट करने के आरोप में पुलिस ने एक दर्जन लोगों को गिरफ्तार किया है. इन वीडियो में कुछ लोगों को घर के सामने से बच्चा उठाते हुए और एक शिशु के अंगों को छिन्न भिन्न करते दिखाया गया है


Send Your Comment
Your Article:
Your Name:
Your Email:
Your Comment:
Send Comment:

Top Stories

राजनीति में शांत रस काल चल रहा -प्रभाकर चौबे सबके हबीब - जीवेश प्रभाकर'महागठबंधन' लोगों की भावना है न कि राजनीति, बीजेपी के खिलाफ पूरा देश एकजुट:राहुल गांधीफीफा वर्ल्ड कप , जानिए कुछ रोचक तथ्यचे गेवारा : एक डॉक्टर जिसके सपने जाने कितनों के अपने बन गए..निराश करता है 'भावेश जोशी.फीफा वर्ल्ड कप , जानिए कुछ रोचक तथ्य.
ट्रंप, किम की मुलाकात द्विपक्षीय संबंधों के नए युग की शुरुआत
CBSE दसवीं परीक्षाः ऑल इंडिया में चार टॉपर, 1.31 लाख को 90% से ज्यादा अंक