- राजनीती
- व्यापार
- महिला जगत
- बाल जगत
- छत्तीसगढ़ी फिल्म
- लोक कल
- हेल्पलाइन
- स्वास्थ
- सौंदर्य
- व्यंजन
- ज्योतिष
- यात्रा

ब्रेकिंग न्यूज़ :

निराश करता है 'भावेश जोशी | सोनिया लगातार चौथी बार कांग्रेस अध्यक्ष |

होम
प्रमुख खबरे
छत्तीसगढ़
संपादकीय
लेख  
विमर्श  
कहानी  
कविता  
रंगमंच  
मनोरंजन  
खेल  
युवा
समाज
विज्ञान
कृषि 
पर्यावरण
शिक्षा
टेकनोलाजी 
सोनिया लगातार चौथी बार कांग्रेस अध्यक्ष
Share |

नई दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी लगातार चौथे कार्यकाल के लिए निर्विरोध निर्वाचित होकर एक और रिकॉर्ड अपने नाम दर्ज करने में जा रही हैं। गुरुवार को चुनाव की नामांकन तारीख समाप्त होने के बाद केवल उनके पक्ष में ही नामांकन के 56 सेट दाखिल किए गए। पार्टी चुनाव प्राधिकरण के अध्यक्ष ऑस्कर फर्नाडिज ने बताया कि कुल 56 सेट में एक को निरस्त कर दिया गया क्योंकि उसमें प्रस्तावकों की संख्या एक कम थी। पार्टी संविधान के मुताबिक एक सेट में कुल दस प्रस्तावक होने जरूरी हैं। सूत्रों के मुताबिक यह सेट चंडीगढ़ के नेताओं की ओर से था। कांग्रेस अध्यक्ष के लिए सबसे ज्यादा चार नामांकन के सेट उत्तर प्रदेश से भरे गए, जबकि मध्य प्रदेश से 2, छत्तीसगढ़ से 2, गुजरात से 2 और राजस्थान से 2 सेट भरे गए। झारखंड से एक सेट ही भरा गया। ऑस्कर फर्नाडिज ने कहा कि केवल एक ही नामांकन हुआ है। लिहाजा, शुक्रवार को नामांकन वापसी का समय समाप्त होने के बाद शाम साढ़े चार बजे कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के पुनर्निर्वाचन की औपचारिक घोषणा कर दी जाएगी। इस अवसर पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी एक संक्षिप्त समारोह के लिए दस जनपथ में मौजूद रहेंगी। कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के भी इस अवसर पर मौजूद रहने की संभावना है। ऑस्कर फर्नाडिज ने कांग्रेस अध्यक्ष के राष्ट्रीय स्तर पर निर्वाचन की प्रक्रिया समय से पहले ही पूरी हो जाने के बाद प्रदेशों के चुनाव कार्यक्रम भी तय समय से पूरे होने की उम्मीद जताई है। उन्होंने कहा कि प्रदेशों में अध्यक्ष पद के लिए चुनाव का कार्यक्रम 17 सितंबर तय किया गया है लेकिन प्रदेशों में जरूरत के मुताबिक इसमें कुछ फेरबदल भी किया जा सकता है। अभी घोषित कार्यक्रम के मुताबिक प्रदेशों में 12 और 13 सितंबर को नामांकन होगा। 14 को नामांकन पत्रों की जांच होगी। 15 को नाम वापसी के बाद 17 को चुनाव होंगे। ऑस्कर ने कहा कि अंतिम चुनाव कार्यक्रम प्रदेशों के चुनाव प्राधिकरण की ओर से ही तय होंगे। भंग हो जाएगी मौजूदा कार्यसमिति : सोनिया के निर्वाचन के साथ ही कांग्रेस की मौजूदा कार्यसमिति भंग हो जाएगी। नई कार्यसमिति के चयन का अधिकार कांग्रेस अध्यक्ष को सौंपा जा सकता है। सबसे ज्यादा समय तक अध्यक्ष का रिकार्ड भास्कर न्यूज x नई दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के नाम सबसे अधिक समय तक लगातार पार्टी का अध्यक्ष रहने का रिकार्ड है। सोनिया ने पार्टी की बागडोर 14 मार्च 1998 को तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष सीताराम केसरी के इस्तीफा के बाद संभाली थी। 1999 में वे पार्टी चुनाव में अध्यक्ष चुनी गई थीं। सोनिया के पहले सबसे ज्यादा समय तक कांग्रेस अध्यक्ष पंडित जवाहरलाल नेहरू रहे थे। उन्होंने 1929 में लाहौर,1936 में लखनऊ, 1937 में फैजपुर में पार्टी अधिवेशन की अध्यक्षता की। वे 1951 में फिर पार्टी अध्यक्ष बने और दिल्ली अधिवेशन की अध्यक्षता की। वे 1953 और 1954-55 में भी अध्यक्ष रहे। इंदिरा गांधी पहली बार वर्ष 1959 - 60 में पार्टी अध्यक्ष बनीं। फिर वे 1978 से 1983 तक अध्यक्ष रहीं। उनके आकस्मिक निधन के बाद राजीव गांधी ने 1984 मंे अध्यक्ष बने और 1985 में मुंबई अधिवेशन की अघ्यक्षता की। राजीव के बाद नरसिंह राव अध्यक्ष बने। अध्यक्ष का कार्यकाल 1951 तक एक वर्ष का होता था। उसके बाद दो साल का और अब तीन साल का है।


Send Your Comment
Your Article:
Your Name:
Your Email:
Your Comment:
Send Comment: