खबरें

हैदराबाद नगर निगम चुनाव भाजपा के लिए इतना बड़ा क्यों बन गया है?

December 1, 2020

अभय शर्मा यह चुनाव इस हफ्ते तब और सुर्ख़ियों में आ गया, जब गृह मंत्री अमित शाह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी यहां प्रचार के लिए पहुंच गए. ऐसे में यह सवाल खड़ा होता है कि तेलंगाना का एक छोटा सा नगर निगम चुनाव भाजपा के लिए आख़िर इतना महत्वपूर्ण क्यों हो […]

Read More

RSS के मुखपत्र ने क्यों लिखा था- संविधान में कुछ भी भारतीय नहीं!

November 26, 2020

रविकान्त संविधान में धर्म व्यक्ति का निजी मामला है। लेकिन इस दौर में खुल्लम-खुल्ला धार्मिक राजनीति हो रही है। अब सांप्रदायिक होना शर्म नहीं, बल्कि गर्व की बात है। संविधान में प्रदत्त समता को समरसता में तब्दील किया जा रहा है। समरसता बुनियादी तौर पर भेदपरक फिकरा है। संविधान और लोकतंत्र पर सत्तापक्ष और हिंदुत्ववादी […]

Read More

आयुर्वेद चिकित्सकों को ऑपरेशन की अनुमतिः आईएमए ने की सरकार के फैसले की आलोचना

November 24, 2020

केंद्र सरकार की एक अधिसूचना जारी कर आयुर्वेद के विशिष्ट क्षेत्र में पोस्ट ग्रेजुएट चिकित्सकों को ऑपरेशन करने का प्रशिक्षण देने की अनुमति दी गई है. इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने इसकी आलोचना करते हुए आयुष मंत्रालय को पत्र लिखकर कहा है कि आधुनिक चिकित्सा के सर्जिकल नियमों को अपना बताने का दावा करने के बजाय वह अपने प्राचीन ज्ञान […]

Read More

हिन्दू कालेज दिल्ली में ‘राष्ट्रीय पुस्तक सप्ताह’ के अंतर्गत ‘किताब की जरूरत’ विषय पर वेबिनार

November 23, 2020

‘ हिंदू कॉलेज दिल्ली के हिंदी विभाग द्वारा राष्ट्रीय पुस्तक सप्ताह के अवसर पर आयोजित वेबिनार में ‘राष्ट्रीय पुस्तक न्यास’ के हिंदी संपादक पंकज चतुर्वेदी ने कहा कि यद्यपि लेखन का इतिहास बहुत पुराना है परंतु किताबें आमजन के लिए बहुत बाद में सुलभ हो सकीं। उन्होंने कहा कि पुस्तकों की महत्वपूर्ण बात यह है […]

Read More

TATA Litfest: रद्द सेशन पर चॉम्‍स्‍की-प्रशाद ने कहा- चर्चा तो होगी, लेकिन वक्त और जगह हमारी होगी!

November 22, 2020

-नित्यानंद गायेन –  (टाटा) लिटरेचर फेस्टिवल में विश्व प्रसिद्ध लेखक और चिंतक नोम चॉम्स्की तथा वामपंथी अकादमिक विजय प्रशाद के बीच शुक्रवार 20 नवंबर की रात होने वाली परिचर्चा के अंतिम वक्‍त में अचानक रद्द किए जाने पर माहौल गरमा गया है। लेखकद्वय ने इस सम्‍बंध में एक बयान ज़रूर जारी कर दिया है। अभी […]

Read More

शांति के लिए कोरिया का प्रतिष्ठित साहित्यिक पुरस्कार LLPP इस साल अरुंधति रॉय को

November 21, 2020

दक्षिण कोरिया का प्रतिष्ठित ली हो छ पुरस्‍कार इस साल भारत की लेखिका अरुंधति रॉय को दिया जाएगा। यह शांति के लिए दिया जाने वाला साहित्यिक पुरस्‍कार है जिसकी स्‍थापना 2017 में की गयी थी। युनपिंयोंग जू डिट्रिक्‍ट ऑफिस, स्‍योल द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया है कि बीते 10 नवंबर को कोरिया […]

Read More

वरवर राव को नानावटी अस्पताल शिफ़्ट करने की इजाजत

November 19, 2020

बॉम्बे हाई कोर्ट ने तेलुगू लेखक वरवर राव को 15 दिनों के लिए नानावटी अस्पताल में शिफ़्ट करने की इजाजत दी है। 79 साल के राव को यूएपीए के तहत गिरफ़्तार किया गया है और वह डेढ़ साल से जेल में हैं। राव भीमा कोरेगांव मामले में अभियुक्त हैं। राव के परिवार ने इससे पहले भी अदालत को बताया था कि […]

Read More

क्या कश्मीरी पंडित इस बात से खुश हैं कि अब जम्मू-कश्मीर में कोई भी व्यक्ति ज़मीन खरीद सकता है?

November 11, 2020

सुहैल ए शाह  ‘कश्मीर फॉर कश्मीरीज़’ का नारा सबसे पहले कश्मीरी पंडितों ने ही लगाया था. लेकिन राज्य के नये भूमि कानून के बाद अब स्थिति बिलकुल बदल गई है जम्मू-कश्मीर में ज्यादातर लोग इस फैसले से खुश नहीं दिख रहे हैं, फिर चाहे वे कश्मीर के लोग हों या जम्मू के, अलगाववादी हों या […]

Read More

कार्टून नहीं, कट्टरपंथी सोच इसलाम के लिए घातक

November 9, 2020

तनवीर जाफ़री  दुर्भाग्यवश, अलक़ाएदा, आईएसआईएस व तालिबान तथा इनसे जुड़े व इनका अनुसरण करने वाले अनेक हिंसक व आतंकी संगठन इसलाम के नाम का ही इस्तेमाल कर अक्सर कोई न कोई ऐसी दिल दहलाने वाली घटना अंजाम देते रहते हैं जिससे इसलाम बदनाम होता है। इन्हीं हिंसक वारदातों ने उन अनेकानेक पूर्वाग्रही ग़ैर मुसलिम […]

Read More

बोलीविया में वामपंथ की वापसी क्या सही मायनों में प्रगतिशील राजनीति की जीत है?

October 27, 2020

मधुरेश कुमार बोलीविया में 18 अक्टूबर के राष्ट्रीय चुनावों में पूर्व राष्ट्रपति इवो मोरालेस की पार्टी मूवमेंट टुवर्ड्स सोशलिज्म (MAS) के उम्मीदवार लुइस आर्स की भारी जीत हुई है। इस जीत के साथ ही दक्षिण अमेरिकी देशों में वामपंथी ताकतों को बल मिलेगा और इक्वाडोर और चिली के आगामी चुनावों में भी इसके असर दिखेंगे। नयी MAS […]

Read More