खबरें

सही क़दमों के जरिये ही ऑक्सीजन संकट से पार पाया जा सकता है

May 12, 2021

बी. सिवरामन इस लेख में हम जारी संकट के विभिन्न आयाम देखेंगे और पड़ताल करेंगे कि इसका हल कैसे निकाला जा सकता है।यद्यपि सरकारें, कॉरपोरेट्स और नागरिक समाज युद्ध स्तर पर लग गए हैं, ऑक्सीजन संकट जारी है। इस लेख में हम जारी संकट के विभिन्न आयाम देखेंगे और पड़ताल करेंगे कि इसका हल कैसे […]

Read More

क्या है सिस्टम का फेल होना?

May 1, 2021

विक्रम सिंह लोगों को बताया जा रहा है कि जनता ही सिस्टम है, इसलिए जनता फेल हो गई। सिस्टम का फेल होना आपका फेल होना है। हमारे देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर ने आतंक मचा रखा है। हस्पताल से श्मशान/कब्रिस्तान तक लम्बी कतारें लगी हैं। जनता आशंकित और आतंकित दिख रही है। ऊपर […]

Read More

कॉमरेड पी सी जोशी एवं डॉ भीमराव आंबेडकर की जयंती पर “आंबेडकर की वैचारिकी और भारत में कम्युनिस्ट आंदोलन का अंतर्संबंध” पर ऑनलाइन संगोष्ठी

April 27, 2021

“भारत में जनमुक्ति के लिए जरूरी हैं मार्क्स और आम्बेडकर, दोनों ही के विचार” भारतीय जन नाट्य संघ (इप्टा) की केंद्रीय समिति द्वारा 14 अप्रैल 2021 को हाल में दिवंगत महाराष्ट्र इप्टा के समन्वयक और प्रसिद्ध फिल्म कलाकार इप्टा के साथी विजय वैरागड़े उर्फ़ वीरा साथीदार की याद में कॉमरेड पी सी जोशी एवं डॉ भीमराव आंबेडकर की जयंती […]

Read More

हिन्दू कालेज दिल्ली में हमारे समय की कविता पर व्याख्यानः कविता का काम स्मृतियों को बचाना भी है – अशोक वाजपेयी

April 23, 2021

दिल्ली। कविता का सच दरअसल अधूरा सच होता है। कोई भी कविता पूरी तब होती है अपने अर्थ में जब पढ़ने वाला रसिक, छात्र,अध्यापक या पाठक उसमें थोड़ा सा अपना सच और अपना अर्थ मिलाता है। सुप्रसिद्ध कवि, संपादक और विचारक अशोक वाजपेयी  ने उक्त विचार हिंदी साहित्य सभा हिंदू कॉलेज के वार्षिक साहित्यिक आयोजन […]

Read More

छत्तीसगढ़: लड़ेंगे, लेकिन पुरखों की ज़मीन कंपनी को नहीं देंगे

April 18, 2021

रूबी सरकार ग्रामीणों का कहना है कि एक साल में 3 लाख मीट्रिक टन एलुमिना उत्पादन करने के लिए 7 लाख मीट्रिक टन बॉक्साइट को रिफाइन करना होगा। इसके लिए कम से 80 से 90 लाख मिलियन क्यूबिक मीटर पानी की जरूरत पड़ेगी। अगर इतना पानी डिस्चार्ज होगा तो आसपास के नदी नाले सभी सूख […]

Read More

पांच राज्यों का जनादेश’21: ध्रुवीकरण की धमक

April 17, 2021

भावना विज अरोड़ा “अब ध्रुवीकरण की राजनीति हिंदू-मुसलमान तक सीमित नहीं, उसमें जाति, संप्रदाय और क्षेत्रीयता के नए तत्व भी जुड़े” राजनीति हैरान करने वाले हालात पैदा कर डालती है। नरेंद्र मोदी भी बाइबल का हवाला दे सकते हैं। बेशक, यह केरल में 30 मार्च को घटित हुआ। प्रधानमंत्री पलक्कड़ की एक चुनावी रैली में […]

Read More

इस बार हापुस आम पर भी कोरोना की मार! उत्पादक किसानों को भारी नुक़सान

April 13, 2021

शिरीष खरे पहले मौसम की मार और अब कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण रखने की कोशिशों के चलते निर्यात प्रभावित होने से हापुस उत्पादक किसानों को इस साल काफी नुक़सान उठाना पड़ रहा है।कोंकण के हापुस आमों की सबसे पहले बाजारों में आवक होती है और यहां के इन आमों की सबसे अधिक मांग सिंगापुर, मलेशिया […]

Read More

दिल्ली विधेयकः चुनी हुई सरकार को नियंत्रित करने केंद्र की कोशिश में दम तोड़ता लोकतंत्र

April 9, 2021

दिनेळ द्विवेदी हर विधायिका के पास ख़ुद को नियंत्रित करने की शक्ति होती है, लेकिन दिल्ली में इस शक्ति का दमन लेफ़्टिनेंट गवर्नर की सहूलियत के लिए किया जा रहा है। एक पूर्ण केंद्रीयकृत सरकार में लोकतांत्रिक प्रतिगमन लगातार बढ़ता हुआ दिखाई देता है। हम सत्ता द्वारा असहमति के लिए बढ़ती असहिष्णुता के गवाह बन […]

Read More

भारतीय लोकतंत्र क्यों पड़ रहा है कमज़ोर?

April 8, 2021

अजीत सिंह कोविड के बाद की दुनिया में लोकलुभावन नेताओं ने महामारी के बहाने अपनी शक्तियों को संकेंद्रित और अपनी व्यक्तिगत नौकरशाही प्रणाली को मजबूत कर लिया है। भारतीय लोकतंत्र के गिरते स्तर पर हो रही बहस पर दो पश्चिमी विशेषज्ञ समूहों की तरफ़ से जारी हालिया रिपोर्टों में प्रकाश डाला गया है, अजीत सिंह […]

Read More

सरकार की पसंदीदा खबरों पर हर महीने 200 करोड़, लेकिन डिजिटल मीडिया पर नियंत्रण के लिए नियम

April 6, 2021

आकार पटेल केंद्र सरकार ने डिजिटल मीडिया के लिए जो नए नियम बनाए हैं, उसे एक तरह से देश में स्वतंत्र मीडिया पर नियंत्रण की व्यवस्था माना जा सकता है। जबकि सरकार की पसंदीदा खबरें लिखने-दिखाने के लिए हर महीने अखबारों-चैनलों को 200 करोड़ रुपए दिए जाते हैं। मैंने हाल ही में एक किताब लिखने […]

Read More