समसामयिक

सवाल नागरिकता खोने का नहीं. नागरिक होने का है — जीवेश चौबे

January 27, 2020

देश भर में लगातार नागरिकता को लेकर बहस और आंदोलन जारी है । नागरिकता कानून में संशोधन से आगे जनगणना रजिस्टर और नागरिकता रजिस्टर को लेकर उपजे भय और संशय के चलते देश के हर भाग में लगातार लोग सड़कों पर हैं और सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी विपक्षियों पर जनता में भ्रम फैलाने का आरोप लगाकर […]

Read More

महाराष्ट्र में 26 जनवरी से सभी स्कूलों में प्रार्थना में संविधान की प्रस्तावना का पाठ अनिवार्य होगा

January 24, 2020

महाराष्ट्र के स्कूलों में गणतंत्र दिवस से रोजाना सुबह की प्रार्थना के बाद संविधान की प्रस्तावना का पाठ अनिवार्य कर दिया गया है। राज्यमंत्री वर्षा गायकवाड़ ने मंगलवार को यहां मीडिया से कहा, ‘छात्र संविधान की प्रस्तावना का पाठ करेंगे, ताकि वे इसका महत्व जान सकें। सरकार का यह काफी पुराना प्रस्ताव है, लेकिन हम […]

Read More

भूपेश बघेल सरकार के एक सालः काम की धमक

December 18, 2019

15 साल तक एक ही पार्टी, एक ही सरकार, एक ही चेहरा जिस नवगठित प्रदेश की पहचान सा बन गया था उसे लगभग रौंदते हुए भूपेश बघेल के नेतृत्व में कॉंग्रेस ने छत्तीसगढ़ में विजय हासिल कर सरकार बनाई । एक साल हो गया देखते देखते छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल के नेतृत्व में सत्तारुढ़ कॉंग्रेस […]

Read More

भारत में आर्थिक मंदी की वजह से मजदूरों को नहीं मिल रहा काम

December 7, 2019

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल में भारत की तेजी से गिरती अर्थव्यवस्था का प्रभाव आम लोगों के रोजगार पर पड़ रहा है. दिल्ली की सड़कों पर लगने वाले मजदूर बाजार में काम की तलाश में जा रहे लोग दिनों दिन और अधिक हताश हो रहे हैं. इस बीच भारतीय रिजर्व बैंक ने महंगाई ज्यादा […]

Read More

माहेश्वरी का मत: भारतीय मीडिया की अलग परिघटना हैं रवीश कुमार

December 6, 2019

रवीश कुमार के भाषणों को सुनना अच्छा लगता है । इसलिये नहीं कि वे विद्वतापूर्ण होते हैं ; सामाजिक-राजनीतिक यथार्थ के चमत्कृत करने वाले नये सुत्रीकरणों की झलक देते हैं । विद्वानों के शोधपूर्ण भाषण तो श्रोता को भाषा के एक अलग संसार में ले जाते हैं । रवीश ऐसे किसी नए भाषाई संसार की […]

Read More